Rajasthan Ke Aitihasik Gaurav Granth

राजस्थान के ऐतिहासिक गौरव-ग्रन्थ
Author : Rajmal Bora
Language : Hindi
Edition : 2019
ISBN : 9788186103906
Publisher : RAJASTHANI GRANTHAGAR

300.00

SKU: AG11 Category:

राजस्थान के ऐतिहासिक गौरव-ग्रन्थ : राजस्थान की धरती वीरप्रसविनी रही है। यहाँ के कण-कण में वीरपुरुषों की साँस महकती है और हर कोण पर वीरों का एक व्यक्तित्व उभरता रहा है। फलतः वीरकाव्यों का सृजन होता रहा है। ऐसे ही वीरकाव्य गौरव-ग्रंथ के नियामक
और प्रेरक रहे हैं। गौरव-गाथाओं के नायक राजस्थान से सम्बद्ध रहे हैं। इनके आधार पर ही हिन्दी में वीरकाव्यों की परम्परायें चली है। ऐसी ही परम्पराओं पर ऐतिहासिक और समग्र विवेचन-विश्लेषण प्रस्तुत कृति में किया गया है।

गौरव-ग्रंथों का ऐतिहासिक सन्दर्भ, विवचेन, मूल्यांकन और उनकी महत्ता-उपादेयता का आकलन करते हुए दूसरे खंड में समसामयिक गौरव-ग्रंथों का पर्यालोचन किया गया है। इन ग्रन्थों के नायकों का व्यक्तित्वांकन इस तथ्य को रेखांकित करता है कि ये व्यक्ति-रूप में आज भले ही महत्त्व न पा सकें, पर समसामयिक सन्दभों में उनका ऐतिहासिक और त्यागशील व्यक्तित्व अविस्मरणीय है।

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Rajasthan Ke Aitihasik Gaurav Granth”

Your email address will not be published. Required fields are marked *