Madhyakaleen Rajasthan ke Pramukh Paryatan Sthal (Mewar ke Sandarbh mein)

मध्यकालीन राजस्थान के प्रमुख पर्यटन स्थल (मेवाड़ के संदर्भ में)
Author : Bhupendra Singh Rathore
Language : Hindi
Edition : 2015
Publisher : RG GROUP

300.00

मध्यकालीन राजस्थान के प्रमुख पर्यटन स्थल (मेवाड़ के संदर्भ में) : समाज को संस्कृति एवं परम्पराएँ संस्कारित करती है। मेवाड़ अपनी विशिष्ट संस्कृति एवं परम्पराओं के रूप में जाना जाता है। मेवाड़ के शौर्य व त्याग से जो अमूल्य धरोहर यहाँ के शासकों ने प्राप्त की साथ ही स्थापत्य कला का नायाब मिश्रण किया वह अभूतपूर्व है। मेवाड़ आध्यात्म की दृष्टि से भी धनी रहा और यही कारण है कि मेवाड़ के शासक सदैव “एकलिंग नाथ” रहे और राजवंश के महाराणा ने उनका दीवान बनकर ही मेवाड़ के मानवीय मूल्यों की रक्षा की इन अद्भूत संगम को निहारने की दृष्टि से ही पर्यटक आकर्षित होता है। इसी को मद्देनजर रखते हुए उपेक्षित स्थलों को भी दृश्य एवं श्रव्य से पर्यटक उत्साहित हो एवं ज्ञान अर्जन प्राप्त करें।

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Madhyakaleen Rajasthan ke Pramukh Paryatan Sthal (Mewar ke Sandarbh mein)”

Your email address will not be published.