Rajasthan Ki Prashasanik Vyavastha

राजस्थान की प्रशासनिक व्यवस्था
Author : Jitendra Singh Bhati
Language : Hindi
Edition : 2015
ISBN : N/A
Publisher : RAJASTHANI GRANTHAGAR

400.00

SKU: 978-81-86103-19-7 Categories: ,

राजस्थान की प्रशासनिक व्यवस्था : राजस्थान की मध्यकालीन रियासतों में प्रशासनिक दृष्टि से मारवाड़ का विशेष महत्त्व रहा है। अभी तक मारवाड़ के प्रमुख शासकों के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर कई शोध ग्रन्थ प्रकाशित हो चुके हैं, जिनमें उनकी प्रायः सामरिक उपलब्धियों पर अधिक ध्यान केन्द्रित किया गया है और राज्य की प्रशासनिक व्यवस्था पर प्रसंगवश ही चर्चा की गई है। प्रस्तुत ग्रन्थ में मारवाड़ की प्रशासनिक व्यवस्था की निरन्तरता पर समग्र दृष्टि से अध्ययन किया गया है। इस प्रकार शोधकर्ता का जो विषय चुना गया है, वह रोचक एवं ज्ञानवर्धक है। यह ग्रन्थ प्रमुखतः नौ अध्यायों में विभाजित किया गया है। जिनके अन्तर्गत 1300-1800 ई. तक, मारवाड़ में प्रशासनिक दृष्टि से आए विभिन्न परिवर्तनों का विस्तार से अध्ययन किया गया है। शोधकर्ता ने तुलनात्मक शोध पद्धति के आधार पर स्वयं निर्णय करते हुए महत्त्वपूर्ण निष्कर्ष प्रस्तुत किये हैं। यह ग्रन्थ भाषा और साहित्य की दृष्टि से भी संतोषजनक है। राजस्थान की अन्य रियासतों के प्रशासन सम्बन्धी शोधकार्यों के लिए यह एक मानक ग्रन्थ सिद्ध होगा, ऐसी हमारी मान्यता है। ग्रन्थ प्रकाशन हेतु डॉ. जितेन्द्रसिंह भाटी बधाई के पात्र हैं।

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Rajasthan Ki Prashasanik Vyavastha”

Your email address will not be published. Required fields are marked *