Barahath Krishna Singh ka Jivan Charitra aur Rajputana ka Apurva Itihas (Part 1-3) + Krantikari Barahath Kesri Singh (FREE)

बारहठ कृष्णसिंह का जीवन चरित्र और राजपूताना का अपूर्व इतिहास 1850-1998 (भाग 1 से 3)
Author : Fatahsingh Manav
Language : Hindi
ISBN : 9788172335816
Edition : 2009
Publisher : Other

1,600.00

Out of stock

SKU: AG30 Category:

बारहठ कृष्णसिंह का जीवन चरित्र और राजपूताना का अपूर्व इतिहास 1850-1998 (भाग 1 से 3) : प्रस्तुत पुस्तक में चारणों की उत्पत्ति और वर्णन, सौदा बारहठों के गोत्र तथा ग्रंथकर्ता का घरू इतिहास, ग्रंथकर्ता बारहठ कृष्णसिंह का जीवन-चरित्र, ग्रंथकर्ता के सिद्धांत और मंतव्या मंतव्य, चित्र : ग्रंथकर्ता बारहठ कृष्णसिंह युवावस्था में, ग्रंथकर्ता के पढ़ने का हाल, ग्रंथ की द्वितीय भूमिका और ग्रंथ लिखने के नियम, राजपूताना की रियासतों का नम्बरवार नक्शा जिसमें रियासतों की आमद, रक़बा, रईस की जाति, सलामी तोप आदि हालात, राजपूताना की रियासतों का मानचित्र, राजपूताना के रईसों के ख़िताब और उनका शब्दार्थ, हिन्दुस्तान की बादशाहत का संक्षिप्त-वृत्तांत, ग्रंथकर्ता बारहठ कृष्णसिंह के जीवन-चरित्र में राजपूताना की रियासतों का इतिहास शुरू होना और गुज़रे हुए रईसों का मुख़्तसर हालात, शाहपुरा के राजाधिराज जगतसिंह का इतिहास, शाहपुरा के राजाधिराज लछमणसिंह का इतिहास, शाहपुरा के राजाधिराज नाहरसिंह का इतिहास, उदयपुर के महाराणा स्वरूपसिंह का इतिहास, उदयपुर के महाराणा शम्भुसिंह का इतिहास, उदयपुर के महाराणा सज्जनसिंह का इतिहास, चित्र : महाराणा सज्जनसिंह, उदयपुर, देवलिया प्रतापगढ़ के महारावत दलपतसिंह का इतिहास, देवलिया प्रतापगढ़ के महारावत उदयसिंह का इतिहास, कोटा के महाराव रामसिंह द्वितीय का इतिहास, कोटा के महाराव शत्रुशाल द्वितीय का इतिहास (एक पृष्ठ त्रुटित), टोंक के नवाब महम्मद अली ख़ाँ का इतिहास, टोंक के नवाब इब्राहिम अली का इतिहास (एक पृष्ठ त्रुटित), बीकानेर के महाराजा सरदारसिंह का इतिहास, बीकानेर के महाराजा डूंगरसिंह का इतिहास, जोधपुर के महाराजा तख्तसिंह का इतिहास (दो पृष्ठ अनुपलब्ध व तीन पृष्ठ पूर्ण रूप से त्रुटित), जोधपुर के महाराजा जसवंतसिंह का इतिहास, चित्र : महाराजा जसवंतसिंह, जोधपुर, अलवर के महाराव राजा शिवदानसिंह का इतिहास (तीन पृष्ठ त्रुटित), अलवर के महाराव राजा मंगलसिंह का इतिहास (एक पृष्ठ त्रुटित), झालरापाटन के राजराणा पृथ्वीसिंह का इतिहास, झालरापाटन के राजराणा जालिमसिंह का इतिहास, सिरोही के राव उम्मेदसिंह का इतिहास, सिरोही के राव केसरीसिंह की गद्दीनशीनी, करौली के महाराजा अर्जुनपाल का इतिहास, किशनगढ़ के महाराजा पृथ्वीसिंह का इतिहास, किशनगढ़ के महाराजा शार्दूलसिंह का इतिहास, जयपुर के महाराजा रामसिंह का इतिहास (तीन पृष्ठ अनुपलब्ध व एक पृष्ठ त्रुटित), जयपुर के महाराजा माधोसिंह का इतिहास (आधा पृष्ठ अनुपलब्ध), भरतपुर के महाराजा जसवंतसिंह का इतिहास (तीन पृष्ठ अनुपलब्ध व दो पृष्ठ त्रुटित), बूंदी के महाराव राजा रामसिंह का इतिहास, बूंदी के मिश्रण सूर्यमल्ल और ग्रंथ आदि का तीन खण्डों में विस्तृत वर्णन किया गया है।

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Barahath Krishna Singh ka Jivan Charitra aur Rajputana ka Apurva Itihas (Part 1-3) + Krantikari Barahath Kesri Singh (FREE)”

Your email address will not be published.