Vyakti, Parivar aur Rishtey

Author : Achalaram Bose
Language : Hindi
ISBN : 9789387297937
Edition : 2020
Publisher : RG Group

125.00

व्यक्ति, परिवार और रिश्ते : आज के वर्तमान आधुनिक युग में मनुष्य के पास समय का अभाव नजर आ रहा है। व्यक्ति एक सामाजिक प्राणी है, जब जन्म लेता है तब से ही उसकी जीवन की यात्रा शुरू हो जाती है। जैसे-जैसे मनुष्य की उम्र बढ़ती जाती है, उसी के अनुभव उसके दायित्व बढ़ते जाते हैं। मैंने मनुष्य के जीवन में आने वाले दायित्व एवं जिम्मेदारियों को बताने की कोशिश की है मनुष्य एक परिवार की इकाई होता है। मनुष्य जन्म लेते ही वह रिश्तों के बंधन में बंध जाता है।
मैं व्यक्ति परिवार और रिश्तें नामक पुस्तक के माध्यम से अपने जीवन को कैसे सफल बनाया जा सकता है, वह स्थिति बताने की कोशिश कर रहा हूं। मैंने किसी व्यक्ति विशेष परिवार समाज तथा धर्म विशेष का नाम न लेते हुए, आज निष्पक्ष दृष्टि से आधुनिक समय के परिपेक्ष्य में जो देख रहा हूं। वह वस्तुस्थिति को बताने की कोशिश कर रहा हूं, उनके लिए अपना परिवार व रिश्तें जिंदगी के लिए कितने महत्वपूर्ण हैं। इंसान के लिए आज शिक्षा बहुत महत्वपूर्ण हैं परंतु शिक्षा के साथ-साथ नैतिक व संस्कारों की शिक्षा अति आवश्यक महसूस की जा सकती है।