Solankiyon ka Prachin Itihas

सोलंकियों का प्राचीन इतिहास
Author : Gaurishankar Hirachand Ojha
Language : Hindi
Edition : 2015
Publisher : RG GROUP

250.00

सोलंकियों का प्राचीन इतिहास : आपके द्वारा प्रेषित चालुक्यों का इतिहास मिला तथा कठिन परिश्रम से प्राप्त इस उपलब्धि हेतु हार्दिक बधाई। स्पष्ट परिलक्षित होता है कि आपने साहित्यिक तथा अभिलेखिक सभी उपलब्ध साधनों का पूरा उपयोग किया है। मुझे पूर्णतया ज्ञात है कि सन्देहास्पद विषयों पर अत्यन्त गम्भीरता से विवेचन करने के पश्चात् ही आप किसी निष्कर्ष पर पहुंचे है। मूल साधनों से उपयोगी सामग्री के चयन से पूर्व आपको महीनों तक गहन अध्ययन करना पड़ा होगा। आपके देशवासियों के लिए निस्सन्देह यह पुस्तक रुचिकर सिद्ध होगी तथा पहली बार देश के एक महत्त्वपूर्ण भूभाग का इतिहास उजागर करेगी। आपको प्रसन्न करने हेतु मैं यह स्तुति नहीं कर रहा हूँ। आपके कार्य क्षेत्र के साथी के रूप में मेरी इच्छा केवल यह प्रकट करना है कि मैं आपके द्वारा अब तक किए गए कार्या को उच्च कोटि मानता हूँ तथा आशा करता हूँ कि इतिहास लेखन के मन्तव्य से जो कार्य आपने प्रारम्भ किया है उसे पूरा करेंगे।

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Solankiyon ka Prachin Itihas”

Your email address will not be published. Required fields are marked *