Panwar Vansh Darpan

पंवार वंश दर्पण (सिंढायच दयालदास कृत)
Author : Dasharath Sharma
Language : Hindi
Edition : 2019
ISBN : 9789384168605
Publisher : RAJASTHANI GRANTHAGAR

200.00

पंवार वंश दर्पण सिंढायच दयालदास कृत : राजस्थान ही की नहीं, प्रायः समस्त भारत की प्राचीन ऐतिहासिक सामग्री बहुत कुछ दुर्लभ है। किन्तु मानव की स्वभावतः यह इच्छा होती है, कि वह अपने पूर्वजों के विषय में कुछ न कुछ ज्ञान प्राप्त करें। यह ज्ञान सत्य पर आश्रित हो, तो ठीक ही है; अन्यथा कल्पित सत्य से संतोष करने की वृत्ति भी मानव समाज में वर्तमान है, विशेषतः उस समय के लिए जब उसे सत्य तक पहुँचने के साधन आसानी से प्राप्त न हों। भाटों और चारणों की अनेक वंशावलियाँ इसी मानवी वृत्ति को ध्यान में रखकर बनाई गई हैं। उनका कुछ भाग सर्वथा सत्य रहता है। दयालदास सिंढायच का पंवार-वंश दर्पण और पंवार वंशावली ऐसे ही चारणी सन्दर्भों में है। पाठक इनके सत्यांश को ग्रहण कर असत्यांश की अवहेलना करेंगे।

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Panwar Vansh Darpan”

Your email address will not be published.