दिल्लीपति पृथ्वीराज चौहान और उनका युग | Dillipati Prithviraj Chauhan aur unka Yug

Author: Bindhyaraj Chauhan
Language: Hindi
Edition: 2015
Publisher: RG GROUP

400.00

SKU: RG221 Categories: ,

राजपूत युग के अधिकांश राजवंशों का गहराई से अध्ययन करने का प्रयत्न निरन्तर किया जाता रहा है। चौहान इतिहास अपेक्षाकृत अधिक विद्वानों के आकर्षण का केन्द्र रहा तथा दशरथ शर्मा आर.बी. सिंह लल्लूभाई भीमभाई देसाई आदि ने चौहान इतिहास का गहन अध्ययन कर विश्वसनीय सामग्री उपलब्ध की। गत डेढ़ दशक से चौहान इतिहास के क्षेत्र में एक नया नाम निरन्तर सामने आ रहा है और वह प्रस्तुत ग्रन्थ के लेखक बी.आर. चौहान का है। ‘दिल्लीपति पृथ्वीराज चौहान और उनका युग’ में लेखक ने अनेक नये पक्षों का प्रमाणिक सामग्री के आधार पर विवेचन विश्लेषण किया है। प्रस्तुत ग्रंथ न केवल कलेवर में ही पूर्ववर्ती चौहान इतिहास से सम्बन्धित ग्रंथों से विस्तृत है अपितु नवीन तथ्यों को उजागर करने की दृष्टि से भी यह पूर्ववर्ती ग्रंथों से सर्वथा भिन्न है। निःसन्देह राजपूत काल के अत्यन्त ही प्राचीन राजवंश के इतिहास का यह एक अनुपम ग्रन्थ है जो शोधपूर्ण विश्लेषण तथा नवीन-अछूते विषयों के विवरण के कारण महत्वपूर्ण है। लेखक ने चौहान इतिहास से सम्बन्धित अनेक समस्याओं को प्रामाणिक साधनों के बल पर सुलझाने का प्रयास किया है। समग्र रूप से ‘दिल्लीपति पृथ्वीराज चौहान और उनका युग’ न केवल ‘अंकारमय युग’ (700 से 1200ई.) को प्रकाशमय बनाने वाला ही सिद्ध होगा बल्कि इसे उस युग के चौहान राजवंश का ज्ञानकोश कहा जाये तो अतिश्योक्ति नहीं होगी। ‘दिल्लीपति पृथ्वीराज चौहान और उनका युग’ की सरल, बोधगम्य भाषा, स्पष्ट व्याख्याओं तथा शोधपूर्ण दृष्टिकोण के कारण यह ग्रन्थ इतिहास के गम्भीर अध्येताओं और चौहान इतिहास के सामान्य जिज्ञासुओं के लिए समान रूप से रुचिकर एवं सहेज कर रखने योग्य सिद्ध होगा।

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “दिल्लीपति पृथ्वीराज चौहान और उनका युग | Dillipati Prithviraj Chauhan aur unka Yug”

Your email address will not be published. Required fields are marked *