Veer Balak aur Balikayen

वीर बालक और बालिकाएं
Author : Manish Singhvi
Language : Hindi
ISBN : 9788188757985
Edition : 2019
Publisher : RG GROUP

150.00

वीर बालक और बालिकाएं : असत्य, अन्याय और बुराई का विरोध करने वलो वीर कहलाते हैं। सत्य, न्याय और अच्छाई को अपने आचरण में उतारने वाले ऐसे वीर स्वाभिमानी किसी भी समाज या जाति के भूषण होते हैं। वीरों से ही जाति, समाज व राष्ट्र का उत्थान होता है। हमारे यहां वीरों को सर्वोच्च सम्मान दिया जाता है। यह हमारी संस्कृति विशिष्ट पहचान है इतना ही नहीं यहां तो यह परम्परा रही है कि वीरता पूर्वक युद्ध में प्राणों का उत्सर्ग करने वाले को मुक्ति मिलती है। स्वर्ग प्राप्त होता है। मनुष्य जीवन का परम लक्ष्य भी मुक्ति प्राप्त करना है ऐसे में वीरों के वीरत्व की महत्ता स्वतः ही बढ़ जाती है।
वीर भोग्या वसुन्धरा। इस धरती का भोग वीर ही करते हैं। कायर तो प्रतिदिन मरता है वीर मर कर भी अमर हो जाता है उसे आने वाली पीढ़िया सदियों तक याद करती है। वीरों के जीवन-चरित्र देश वासियों को सदा स्वतंत्रता स्वाभिमान, सत्य और न्याय के मार्ग पर अग्रसर होने की प्रेरणा देते है। पुस्तक में वीर बालक एवं बालिकाओं के ऐसे चरित्र प्रस्तुत किये हैं जिससे इस देश की युवा पीढ़ी को आत्मबल, स्वाभिमान शौर्य, त्याग व प्राणोत्सर्ग की भावना को बल मिलेगा साथ ही अन्याय, असत्य, बुराई व विसंगतियों से संघर्ष करने की आत्मशक्ति प्राप्त होगी।

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Veer Balak aur Balikayen”

Your email address will not be published. Required fields are marked *