In monotheistic thought, God is conceived of as the supreme being, creator deity, and principal object of faith. God is usually conceived as being omniscient, omnipotent, omnipresent, and as having an eternal and necessary existence.
Saints have often renounced the world, and are variously called gurus, sadhus, rishis, swamis, and other names. Many people conflate the terms “saint” and “sant”, because of their similar meanings. The term sant is a Sanskrit word “which differs significantly from the false cognate, ‘saint’.”

एकेश्वरवादी विचार में, भगवान को सर्वोच्च प्राणी, निर्माता देवता, और आस्था का प्रमुख उद्देश्य माना जाता है। ईश्वर को आमतौर पर सर्वज्ञ, सर्वशक्तिमान, सर्वव्यापी होने के नाते, और एक शाश्वत और आवश्यक अस्तित्व के रूप में कल्पना की जाती है।
संतों ने अक्सर दुनिया को त्याग दिया है, और उन्हें गुरु, साधु, ऋषि, स्वमी और अन्य नामों से जाना जाता है। कई लोग अपने समान अर्थों के कारण “संत” और “संत” शब्दों को स्वीकार करते हैं। संत शब्द एक संस्कृत शब्द है, “जो झूठे संज्ञान, ‘संत’ से काफी अलग है।”

Showing 1–40 of 162 results