Ajaat Shatru-अजात शत्रु

Language – Hindi

50.00

SKU: RG730 Category:

About The Author

Jaishankar Prashad | जयशंकर प्रसाद

संस्कृत भाषा में रचित पण्डित नारायण शर्मा के ‘हितोपदेश’ का यह हिन्दी रूपान्तरण अत्यन्त सरल-सुबोध एवं रोचक तथा पाठक के जीवन पर स्थायी प्रभाव डालने वाला है। ‘हितोपदेश’ में राजनीति,धर्मशास्त्र,अर्थशास्त्र,समाजशास्त्र तथा लोक-व्यवहार के अनुभव-सिद्ध औरजीवन के लिए नितानत उपयोगी सिद्धान्तों का प्रतिपादन है। कथाओं के माध्यम से विविध विद्याओं की शिक्षा देते हुए मनुष्ष्य को विनम्र,चरित्रवान एवं स्ंस्कार सम्पन्न बनाने के उदेश्य से की गई इस रचना ने कई शताब्दियों से मानव मात्र का कल्याण किया है। मीठी औष्षधि से रोग-निवारण के समान, शिक्षा से दूर भागने वाले बालक भी इसकी जनतु-कथाओं से राजनीति और लोक-व्यवहार में निपुणता प्राप्त कर सकते हैं।

Please follow and like us:
Follow by Email
Facebook
Google+
http://rgbooks.net/product/ajaat-shatru-%e0%a4%85%e0%a4%9c%e0%a4%be%e0%a4%a4-%e0%a4%b6%e0%a4%a4%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a5%81/
Twitter
Instagram